×

Gyanvapi Mosque ASI Survey : ‘सुप्रीम’ आदेश के बाद ज्ञानवापी परिसर में एएसआई सर्वे रोका गया

Gyanvapi Mosque ASI Survey : ‘सुप्रीम’ आदेश के बाद ज्ञानवापी परिसर में एएसआई सर्वे रोका गया

Gyanvapi Mosque ASI Survey: ज्ञानवापी परिसर में एएसआई सर्वे को रोक दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने दो दिन तक सर्वे पर रोक लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने हिंदू पक्ष को झटका दिया है। साथ ही मुस्लिम पक्ष से हाईकोर्ट जाने के लिए कहा है। पढ़ें लेटेस्ट अपडेट …..

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (26 जुलाई) शाम 5 बजे तक के लिए रोक लगा दी है. इस दौरान मस्जिद कमेटी को हाई कोर्ट जाने का मौका दिया गया है. ज्ञानवापी मस्जिद का प्रबंधन देखने वाली अंजुमन कमेटी ने काशी विश्वनाथ मंदिर से सटे मस्जिद परिसर के सर्वेक्षण के लिए वाराणसी जिला अदालत के आदेश के खिलाफ याचिका दायर की थी, जिसपर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश दिया.

हिंदू पक्ष की ओर से दायर किया गया कैविएट

मुस्लिम पक्ष के ज्ञानवापी सर्वे को रोके जाने संबंधी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बा Gyanvapi द अब इलाहाबाद हाई कोर्ट पर सरगर्मी तेज हो गई है। मुस्लिम पक्ष सोवमार शाम तक हाई कोर्ट में याचिका दायर कर सकता है। मुस्लिम पक्ष का दावा है कि सर्वे का यह सही वक्त नहीं है। ऐसे में एएसआई के सर्वे पर रोक लगाई जाए। सुप्रीम कोर्ट ने 26 जुलाई की शाम 5 बजे तक ज्ञानवापी मस्जिद में यथास्थिति बहाल रखने का आदेश दिया है। वाराणसी जिला कोर्ट के फैसले पर तब तक के लिए रोक लग गई है। मुस्लिम पक्ष इलाहाबाद हाई कोर्ट मूव कर रहा है। इस बीच हिंदू पक्ष भी हाई कोर्ट पहुंच गया है। हिंदू पक्ष ने हाई कोर्ट में कैविएट याचिका दायर कर मुस्लिम पक्ष की एएसआई सर्वे रोकने से संबंधित किसी भी याचिका पर सुनवाई के क्रम में उनके पक्ष को भी रखे देने जाने की मांग की है। बिना हिंदू पक्षकारों का पक्ष सुने कोई आदेश न पारित करने की अपील हाई कोर्ट से की गई है।

 

शाम तक मुस्लिम पक्ष पहुंच सकता है हाई कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे पर रोक लगाने से संबंधित याचिका हाई कोर्ट में दायर कर सकता है। आज शाम तक ही मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट पहुंच सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने भी मुस्लिम पक्ष को हाई कोर्ट में आज शाम तक याचिका दायर करने को कहा है। हाई कोर्ट इस मामले में याचिका पर सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने हर हाल में 26 जुलाई की शाम 5 से पहले ज्ञानवापी सर्वे पर हाई कोर्ट को अपना आदेश पारित करने को कहा है। हाई कोर्ट के आदेश के पर अब ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे का भविष्य टिका दिख रहा है।

 

मुस्लिम पक्ष जाए हाई कोर्ट : सुप्रीम कोर्ट

ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे एएसआई सर्वे को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मुस्लिम पक्षकार को हाई कोर्ट जाने को कहा गया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट में मंगलवार को अपील करे। सुप्रीम कोर्ट ज्ञानवापी परिसर की खुदाई पर तत्काल रोक लगा दी है। इसके बाद सर्वे प्रक्रिया पर भी रोक लगा दी गई।पहले एएसआई का वैज्ञानिक और टेक्निकल सर्वे का काम जारी रहने की बात कही गई। हालांकि, बाद में सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे प्रक्रिया को रोकने का आदेश दिया। 26 जुलाई तक सर्वे बंद रहेगा। बुधवार शाम 5 बजे तक सर्वे का काम बंद रहेगा। इस बीच मुस्लिम पक्ष को हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखने को कहा गया है। मुस्लिम पक्ष को मंगलवार तक अपनी याचिका हाई कोर्ट में दाखिल करनी होगी। हाई कोर्ट बुधवार शाम 5 बजे से पहले मुस्लिम पक्ष की याचिका पर फैसला देगा। इसके आधार पर ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम कराया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रुका अभियान, हाई कोर्ट पर हर नजर

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का कार्य रोक दिया गया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार वाराणसी जिला प्रशासन की ओर से किया जा रहा था। जैसे ही कोर्ट का आदेश प्रशासन तक पहुंचा। वैसे ही एएसआई के अभियान पर रोक लगा दी गई। चार घंटे बाद एएसआई की टीम ज्ञानवापी मस्जिद परिसर से बाहर निकल गई। सुप्रीम कोर्ट ने 26 जुलाई शाम 5 बजे तक सर्वे पर रोक लगाई है। हाई कोर्ट में अब इस मामले पर सुनवाई होगी। इसको लेकर हाई कोर्ट में हर नजर जम गई है। मुस्लिम पक्ष किसी भी वक्त हाई कोर्ट पहुंच कर इस मामले में याचिका दायर कर सकता है।

 

ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे एएसआई सर्वे को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मुस्लिम पक्षकार को हाई कोर्ट जाने को कहा गया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट में मंगलवार को अपील करे। सुप्रीम कोर्ट ज्ञानवापी परिसर की खुदाई पर तत्काल रोक लगा दी है। इसके बाद सर्वे प्रक्रिया पर भी रोक लगा दी गई।पहले एएसआई का वैज्ञानिक और टेक्निकल सर्वे का काम जारी रहने की बात कही गई। हालांकि, बाद में सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे प्रक्रिया को रोकने का आदेश दिया। 26 जुलाई तक सर्वे बंद रहेगा। बुधवार शाम 5 बजे तक सर्वे का काम बंद रहेगा। इस बीच मुस्लिम पक्ष को हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखने को कहा गया है। मुस्लिम पक्ष को मंगलवार तक अपनी याचिका हाई कोर्ट में दाखिल करनी होगी। हाई कोर्ट बुधवार शाम 5 बजे से पहले मुस्लिम पक्ष की याचिका पर फैसला देगा। इसके आधार पर ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम कराया जाएगाGyanvapi Case Live: ‘सुप्रीम’ आदेश के बाद ज्ञानवापी परिसर में एएसआई सर्वे रोका गया, अब दो दिन बाद होगा शुरू।

शाम तक मुस्लिम पक्ष पहुंच सकता है हाई कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे पर रोक लगाने से संबंधित याचिका हाई कोर्ट में दायर कर सकता है। आज शाम तक ही मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट पहुंच सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने भी मुस्लिम पक्ष को हाई कोर्ट में आज शाम तक याचिका दायर करने को कहा है। हाई कोर्ट इस मामले में याचिका पर सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने हर हाल में 26 जुलाई की शाम 5 बजे से पहले ज्ञानवापी सर्वे पर हाई कोर्ट को अपना आदेश पारित करने को कहा है। हाई कोर्ट के आदेश के पर अब ज्ञानवापी परिसर के एएसआई सर्वे का भविष्य टिका दिख रहा है।

 

शिव ही सत्य हैं : केशव मौर्य

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का बड़ा बयान सामने आया। उन्होंने कहा कि सत्य परेशान हो सकता है। वह पराजित नहीं हो सकता है। शिव ही सत्य हैं। वहीं, इस मामले में हिंदू पक्षकार के वकील विष्णु जैन ने कहा कि एएसआई सर्वे से ही ज्ञानवापी का सच सामने आएगा। उन्होंने कहा कि हम कोर्ट के निर्णय को स्वीकर करते हैं। हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। एएसआई का वैज्ञानिक सर्वे सत्य को सामने लाने में सहायक होगा। इसलिए, यह जरूरी है।

 

मुस्लिम पक्षकार ने मामले से बनाई है दूरी

ज्ञानवापी सर्वे के दौरान मुस्लिम पक्षकार ने मामले से दूरी बना ली है। मुस्लिम पक्ष की ओर से ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे के दौरान कोई नहीं पहुंचा। मुस्लिम पक्ष सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई पर नजर जमाए हुए है। कोर्ट की ओर से आने वाले फैसले के के बाद मुस्लिम पक्ष अपनी स्थिति साफ करेगा। मुस्लिम पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में सर्वे पर रोक लगाने की मांग की है। दूसरी तरफ, एएसआई के सीनियर अधिकारी के नेतृत्व में ज्ञानवापी मस्जिद के पूरे परिसर का सर्वे कराया जा रहा है। एएसआई की टीम सभी पहलुओं की गंभीरता से जांच कर रही है। यहां से निकलने वाले सबूतों के आधार पर ज्ञानवापी का भविष्य तय होना माना जा रहा है। इसे ज्ञानवापी में सच की तलाश के रूप में भी पेश किया जा रहा है।

चार टीमें कर रही हैं सर्वे

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए चार टीमों को लगाया गया है। एएसआई के करीब 30 अधिकारियों को इन टीमों में बांटकर सर्वे की प्रक्रिया को शुरू किया गया है। टीमें परिसर के भीतर की स्थिति का जायजा ले रही है। सर्वेक्षण के दौरान परिसर के भीतरी भाग में स्थिति का जायजा लिया जा रहा है। पहली टीम पश्चिमी दीवार का सर्वेक्षण कर रही है। दूसरी टीम गुंबदों का सर्वे कर रही है। वहीं, तीसरी टीम चबूतरा की जांच कर रही है। चौथी टीम ज्ञानवापी मस्जिद के बाकी परिसर का मुआयना करने में जुटी हुई है। सुबह 7 बजे से सर्वेक्षण का कार्य चल रहा है

Share this content:

Post Comment